टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड टिहरी में धूमधाम से मनाया गया अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस।

दिनांक 08.03.2019 को टीएचडीसी इण्डिया लिमिटेड टिहरी में अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम का शुभारम्भ भारतीय संस्कृति की परम्परा के अनुसार कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अधिशासी निदेशक (टी.सी.) श्री एस आर. मिश्रा, महाप्रबन्धक पी.एस.पी. श्री के. पी. सिंह, महाप्रबन्धक पी.एस.पी./ई.एम. श्री एस. एस. पंवार, मुख्य चिकित्सा अधिकारी टीएचडीसी आईएल श्रीमती नवनीत किरन, श्रीमती नमिता डिमरी के कर कमलों द्वारा किया गया। कार्यक्रम में पुलवामा में शहीद हुए वीर जवानों को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजली अर्पित की गई।

कार्यक्रम की संयोजिका श्रीमती नवनीत किरन ने मुख्य अतिथि महोदय श्री एस. आर. मिश्रा का स्वागत करते हुए विस्तार से महिला दिवस के बारे में जानकारी दी और महिलाओं के विकास, सुरक्षा, सशक्तिकरण के सम्बन्ध में अवगत कराया। अधिशासी निदेशक टिहरी कॉम्पलेक्स श्री एस. आर. मिश्रा द्वारा कार्यक्रम में उपस्थित सभी महिलाओं को अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस की बधाई देते हुए कहा कि आज पूरे विश्व में महिलाओं द्वारा विभिन्न कीर्तिमान स्थापित किये जा रहे हैं जिसमें हमारे देश की महिलाओं ने आजादी से लेकर अब तक विभिन्न क्षेत्रों में आगे आकर देश का प्रतिनिधित्व किया है और कर रहीं हैं। उन्होंने रानी लक्ष्मीबाई, सरोजनी नायडू, श्रीमती इन्दिरा गाँधी, मदर टेरेसा, श्रीमती प्रतिभा पाटिल, अंतरिक्ष यात्री कल्पना चावला, मानवाधिकार कार्यकर्ता इरोम चानू शर्मिला, धावक पी.टी. ऊषा, हीमा दास, सीता साहू, आशा राय, विश्वप्रसिद्ध मुक्केबाज मैरीकॉम, बैडमिनटन के क्षेत्र में पी.वी. सिन्धु, साइना नेहवाल, क्रिकेट के क्षेत्र में मिथाली राज, गायन के क्षेत्र में लता मंगेश्कर, प्रशासनिक क्षेत्र में श्रीमती किरन बेदी, दुर्गाशक्ति नागपाल अरून्धति भट्टाचार्य भारत के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक की चेयरपर्सन रहीं हैं। अरून्दति राय, मानसी प्रधान जैसी विश्व प्रसिद्ध लेखिकाओं द्वारा हमारे देश का नाम रोशन किया गया। बछेंद्री पाल माउन्ट एवरेस्ट पर चढ़ने वाली प्रथम भारतीय महिला हैं। वे एवरेस्ट की ऊंचाई को छूने वाली दुनिया की 5वीं महिला पर्वतारोही हैं। अरूणिमा सिन्हा भारत की राष्ट्रीय स्तर की बॉलीवॉल खिलाड़ी होने के साथ ही माउन्ट एवरेस्ट शिखर फतह करने वाली पहली भारतीय दिव्यांग हैं। आदि के योगदान को याद करते हुए कहा कि इनके द्वारा किये गये कार्यों से हमारी देश की महिलाओं को प्रेरणा लेनी चाहिए। सरकार द्वारा महिलाओं के सशक्तिकरण, सुरक्षा, उत्थान एवं विकास के लिए विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। हमारे देश की सभी महिलाओं को उन योजनाओं का लाभ लेकर आगे बढ़ना चाहिए।

महिला दिवस के अवसर पर टीएचडीसी आईएल की महिलाओं द्वारा विभिन्न रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी गई जिसमें देशभक्ति, पंजाबी, गढ़वाली आदि गानों के साथ नृत्य प्रस्तुत किये। साथ ही महिलाओं द्वारा आत्मरक्षा का प्रस्तुतिकरण भी दिया गया। अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिलाओं को अधिकारों और महिला उत्थान की जानकारी के लिए संकाय के रूप में डॉ. कीर्ति कुमारी वैज्ञानिक कृषि विज्ञान केन्द्र रानीचौरी टिहरी गढ़वाल एवं सृष्टि चौहान स्वर्ण पदक विजेता नेशनल किक बॉक्सिंग चैम्पियनशिप 2019 द्वारा महिला सुरक्षा सशक्तिकरण पर व्याख्यान दिया गया। इस अवसर पर डॉ. श्रीमती कुसुम त्रिवेदी, श्रीमती नीरज सिंह श्रीमती स्वाती व्यास, श्रीमती सुभी माहेश्वरी, श्रीमती ज्योति मीणा, प्रियंका, श्रीमती सरला डबराल, श्रीमती साधना त्यागी, अल्का, बसंती सहित बड़ी संख्या में महिलाएं उपस्थित थी। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती नीरज सिंह द्वारा किया गया। डॉ. श्रीमती नवनीत किरन मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा कार्यक्रम के समापन पर महिला दिवस के आयोजन के लिए प्रबंधन वर्ग का आभार व्यक्त किया गया।

Updated on : 13/03/2019