टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड ऋषिकेश कारपोरेट कार्यालय में हिंदी माह का आयोजन

हिंदी माह उद्धाटन समारोह टीएचडीसी इंडिया लि. के कारपोरेट कार्यालय, ऋषिकेश में सितंबर का महीना हिंदी माह के रूप में मनाया गया। 04 सितबंर, 2018 को हिंदी माह का उद्घाटन श्री मुहर मणि, महाप्रबंधक(ओएमएस,क्‍यू.ए. एवं सेफ्टी) की अध्‍यक्षता में हुआ। इस अवसर पर हिंदी नोडल अधिकारियों की बैठक आयोजित की गई जिसमें अनेक वरि. अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्‍थित थे। कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्‍जवलित कर किया गया। वरि. प्रबंधक(हिंदी) श्री अशोक कुमार श्रीवास्‍तव ने सभी उपस्‍थित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को हिंदी माह के दौरान आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों व प्रतियोगिताओं के बारे में अवगत कराया। उन्‍होंने बताया कि इस बार पूरे सितंबर माह के दौरान विभिन्‍न कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, इनमें 04 सितंबर,2018 को हिंदी माह के उद्घाटन व हिंदी नोडल अधिकारियों की बैठक के साथ शुभारंभ होने के बाद 05 सितंबर को हिंदी कार्यशाला, 06 सितंबर को हिंदी निबंध प्रतियोगिता, 07 सितंबर को नोटिंग-ड्राफ्टिंग, 10 सितंबर को हिंदी कहानी लेखन एवं 12 सितंबर को अनुवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा । 14 सितबंर को हिंदी दिवस मनाया जाएगा तथा हिंदी हस्‍ताक्षर प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। 17 सितंबर को हिंदी ई-मेल, 18 सितंबर को हिंदी श्रुत लेखन, 19 सितंबर को शब्‍द ज्ञान, 20 सितंबर को अंत्‍याक्षरी एवं 21 सितंबर को हिंदी प्रश्‍नोत्‍तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। 24 सितंबर को नगर राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति, हरिद्वार के सदस्‍य संस्‍थानों के लिए वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा तथा 25 सितंबर को निदेशक(कार्मिक) की अध्‍यक्षता में राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति की बैठक आयोजित की जाएगी । हिंदी माह का समापन एवं पुरस्‍कार वितरण समारोह 28 सितंबर को आयोजित किया जाएगा । जिसमें उपर्युक्‍त प्रतियोगिताओं के विजेताओं एवं विभिन्‍न पुरस्‍कार योजनाओं के अंतर्गत विजेताओं को पुरस्‍कृत किया जाएगा । श्री श्रीवास्‍तव ने सभी उपस्‍थित हिंदी नोडल अधिकारियों से अनुरोध किया कि वे अपने-अपने विभागों में हिंदी माह के आयोजन के बारे में अधिकाधिक प्रचार-प्रसार करें तथा कर्मचारियों को इस दौरान आयोजित की जाने वाली प्रतियोगिताओं में प्रतिभागिता करने तथा कार्यक्रमों में भाग लेने के लिए प्रोत्‍साहित करें। बैठक में विभागों में राजभाषा कार्यान्‍वयन की समीक्षा भी की गई । इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्‍यक्षता कर रहे श्री मुहर मणि ने सभी उपस्‍थित अधिकारियों व कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि कार्यालय के विभागों में नामोनिर्दिष्‍ट किए गए हिंदी नोडल अधिकारी राजभाषा कार्यान्‍वयन में महत्‍वपूर्ण भूमिका का निर्वहन कर रहे हैं और हिंदी माह के उद्घाटन के अवसर पर हिंदी नोडल अधिकारियों की बैठक कर उन्‍हें पूरे माह के दौरान आयोजित किए जाने वाले कार्यक्रमों के बारे में जानकारी देना प्रासंगिक है जिससे वे अपने-अपने विभागों में समस्‍त अधिकारियों व कर्मचारियों को इसकी जानकारी दे सकें। राजभाषा कार्यान्‍वयन में मददगार कई कंप्‍यूटर टूल्‍स के आ जाने के बाद अब कार्यालय के कार्यों में हिंदी का प्रयोग असंभव प्रतीत नहीं होता बशर्तें कि यह मानसिकता कायम हो सके कि हमें सिर्फ हिंदी में ही कार्य करना है । हिंदी कार्यशाला का आयोजन हिंदी माह के दौरान दूसरे कार्यक्रम के रूप में 05 सितंबर,2018 को ई-2 से ई-5 तक के कार्यपालकों के लिए हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया जिसमें वरि. हिंदी अधिकारी, श्री पंकज कुमार शर्मा ने यूनिकोड के प्रयोग के लाभ एवं यूनिकोड को भारत सरकार द्वारा सभी कार्यालयों में अनिवार्य किए जाने, विभिन्‍न टूल्‍स जैसे इंडिक इनपुट टूल्‍स एवं वाइस टाइपिंग का प्रयोग करते हुए टाइपिंग करना आसान बनाने के बारे में जानकारी दी तथा साथ ही गतवर्ष हिंदी दिवस के अवसर पर हिंदी को बढ़ावा देने के उद्देश्‍य से महामहिम राष्‍ट्रपति महोदय द्वारा लांच किए गए लीला एप के बारे में भी प्रतिभागियों को जानकारी दी। कार्यशाला में वरि. प्रबंधक (हिंदी), श्री अशोक कुमार श्रीवास्‍तव ने राजभाषा नीति, नियम व अधिनियम के बारे में प्रतिभागियों का मार्गदर्शन किया तथा टिप्‍पण एवं आलेखन का अभ्‍यास भी कराया। सभी प्रतिभागियों को हिंदी की साहित्‍यिक पुस्‍तकें वितरित की गई। कार्यशाला में 27 अधिकारियों ने प्रतिभागिता की । हिंदी दिवस समारोह 14 सितंबर को हिंदी दिवस समारोह धूमधाम से मनाया गया। कार्यक्रम की अध्‍यक्षता कर रहे महाप्रबंधक(कार्मिक) श्री सी. मिन्‍ज ने टीएचडीसी के अध्‍यक्ष एवं प्रबंध निदेशक द्वारा जारी की गई अपील सभी उपस्‍थित अधिकारियों व कर्मचारियों को पढ़कर सुनाई जिसमें निगम के अधिकारियों व कर्मचारियों से अपील की गई थी कि राजभाषा हिंदी के कार्यान्‍वयन को सुगम बनाने के लिए राजभाषा विभाग, गृह मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा उपलब्‍ध कराई जा रही टाइपिंग की विभिन्‍न सुविधाओं एवं लीला मोबाइल एप जैसे विभिन्‍न साधनों का उपयोग कर निगम में राजभाषा हिंदी का कार्यान्‍वयन सुनिश्‍चित करने हेतु हर संभव प्रयास करें । इस अवसर पर श्री एन.के. प्रसाद, अपर महाप्रबंधक(कार्मिक-प्रशासन) ने हिंदी दिवस के अवसर पर माननीय गृह मंत्री, श्री राजनाथ सिंह का संदेश पढ़कर सुनाया। साथ ही वरि. प्रबंधक(हिंदी), श्री अशोक कुमार श्रीवास्‍तव ने मंत्रिमंडल सचिव, भारत सरकार, श्री प्रदीप कुमार सिन्‍हा का संदेश भी पढ़ा जिसमें इस पावन अवसर पर राजभाषा हिंदी की उत्‍तरोत्‍तर प्रगति का संकल्‍प लेने का आग्रह किया गया था। सभी उपस्‍थित अधिकारियों व कर्मचारियों ने करतल ध्‍वनि से इन संदेशों का स्‍वागत किया । हिंदी दिवस के अवसर पर हिंदी हस्‍ताक्षर प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था जिसमें 84 प्रतिभागियों ने प्रतिभागिता की । हिंदी प्रतियोगिताओं का आयोजन 06 सितंबर को हिंदी निबंध प्रतियोगिता में 18 कर्मचारियों ने प्रतिभागिता की। इसका विषय ''हिंदी के समग्र विकास हेतु शिक्षा में हिंदी की अनिवार्यता आवश्‍यक'' रखा गया था। 07 सितंबर को नोटिंग-ड्राफ्टिंग प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें 21 कर्मचारियों ने प्रतिभागिता की । 10 सितंबर को आयोजित हिंदी कहानी लेखन प्रतियोगिता में 18 कर्मचारियों ने प्रतिभागिता की । 12 सितंबर को आयोजित अनुवाद प्रतियोगिता में 17 कर्मचारियों ने प्रतिभागिता की। 14 सितबंर को आयोजित हिंदी हस्‍ताक्षर प्रतियोगिता में 84 कर्मचारियों ने प्रतिभागिता की। 17 सितंबर को हिंदी ई-मेल प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। यह प्रतियोगिता कार्यपालकों व गैर कार्यपालकों के लिए अलग-अलग आयोजित की गई जिसमें 36 कार्यपालकों व 06 गैर कार्यपालकों ने भाग लिया। 18 सितंबर को आयोजित हिंदी श्रुत लेखन प्रतियोगिता में 29 कर्मचारियों ने प्रतिभागिता की। 19 सितंबर को आयोजित हिंदी शब्‍द ज्ञान प्रतियोगिता में 33 कर्मचारियों ने प्रतिभागिता की। 20 सितंबर को आयोजित अंत्‍याक्षरी प्रतियोगिता में 37 कर्मचारियों ने प्रतिभागिता की। 21 सितंबर को आयोजित हिंदी प्रश्‍नोत्‍तरी प्रतियोगिता में 40 कर्मचारियों ने प्रतिभागिता की । नराकास के सदस्‍य संस्‍थानों के लिए वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन नगर राजभाषा कार्यान्‍वयन समिति, हरिद्वार का सचिवालय टीएचडीसी इंडिया लि., ऋषिकेश के पास होने के नाते हिंदी माह के दौरान नराकास, हरिद्वार के सदस्‍य संस्‍थानों के लिए वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया । वाद-विवाद का विषय ''कार्यालयों की मौजूदा कार्यप्रणाली कर्मचारियों में बढ़ रहे तनाव के लिए जिम्‍मेदार'' रखा गया था। इस प्रतियोगिता में 21 संस्‍थानों के कुल 38 कर्मचारियों ने प्रतिभागिता की। विजेताओं को उसी दिन नगद पुरस्‍कार राशि के साथ प्रथम, द्वितीय, तृतीय व 04 सांत्‍वना पुरस्‍कारों से पुरस्‍कृत किया गया। बीएचईएल, हरिद्वार के श्री देवेश वशिष्‍ठ –प्रथम, एनएचपीसी देवप्रयाग के श्री राजीव कुमार द्विवेदी- द्वितीय, दि न्‍यू इंडिया एश्‍योरेंस, हरिद्वार के श्री निर्मल्‍या सेन-तृतीय रहे। केंद्रीय विद्यालय नं.-1 रुड़की के श्री आलोक गुप्‍ता, एम्‍स ऋषिकेश के श्री गणेश पटेल, टीएचडीसी ऋषिकेश के श्री दिलीप कुमार द्विवेदी एवं सीआईएसएफ, हरिद्वार के श्री संजीव कुमार ने सांत्‍वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किया । हिंदी माह समापन एवं पुरस्‍कार वितरण समारोह हिंदी माह का समापन एवं पुरस्‍कार वितरण 28 सितंबर, 2018 को संपन्‍न हुआ। कार्यक्रम में विद्युत मंत्रालय की हिंदी सलाहकार समिति के माननीय सदस्‍य श्री जी.के. फरलिया और महाप्रबंधक(कार्मिक), श्री सी.मिन्‍ज ने मंच की शोभा बढ़ाई । इस अवसर पर श्री मुहर मणि, महाप्रबंधक(ओएमएस, क्‍यू.ए. एवं सेफ्टी), श्री कुमार शरद, महाप्रबंधक(सतर्कता) सहित अनेक वरि. अधिकारी उपस्‍थित थे। कार्यक्रम के शुभारंभ पर वरि. प्रबंधक(हिंदी), श्री अशोक कुमार श्रीवास्‍तव ने मंचासीन अतिथिगणों एवं समस्‍त उपस्‍थित अधिकारियों व कर्मचारियों का स्‍वागत किया। उन्‍होंने हिंदी माह के दौरान आयोजित कार्यक्रमों का पूरा ब्‍यौरा प्रस्‍तुत किया। श्री फरलिया एवं श्री मिन्‍ज ने अपने कर- कमलों से विजेता प्रतिभागियों को पुरस्‍कृत किया । दिनांक 06.09.2018 को आयोजित हुई हिंदी निबंध प्रतियोगिता में श्रीमती शीला देवी, वरि. आशुलिपिक (ओ.एंड एम.एस.)-प्रथम, श्री दिलीप कुमार द्विवेदी, प्रबंधक(कार्मिक-वेलफेयर)-द्वितीय, श्री राजीव जैन, वरि. प्रबंधक (वाणिज्‍यिक)-तृतीय रहे। साथ ही श्री सुरेन्‍द्र सिंह नेगी, परिचारक(मा.सं.वि.), श्री मनोहर लाल डोभाल, वरि.कार्यपालक सचिव(विधि एवं माध्‍य.), सुश्री सिद्धिमा डोभाल, प्रबंधक(विधि एवं माध्‍य.) एवं श्री सूरज अग्रवाल, उप प्रबंधक (सामा. एवं पर्या.) ने सांत्‍वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किया । दिनांक 07.09.2018 को आयोजित हुई नोटिंग-ड्राफ्टिंग प्रतियोगिता में श्री राजीव जैन, वरि. प्रबंधक (वाणिज्‍यिक)- प्रथम, श्री के.एस.पुण्‍डीर, वरि. प्रबंधक (विधि एवं माध्‍य.)–द्वितीय, डॉ. राजीव, उप मुख्‍य चिकित्‍साधिकारी(औषधालय)-तृतीय रहे। साथ ही श्री दिलीप कुमार द्विवेदी, प्रबंधक(कार्मिक-वेलफेयर), श्री शिवराज चौहान, वरि.प्रबंधक (अ.एवं प्र. नि. सचि.), श्री राजेश कुमार गुप्‍ता, प्रबंधक (वित्‍त) एवं श्री देवी लाल वर्मा, वरि. अभियंता(वाणिज्‍यिक) ने सांत्वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। दिनांक 10.09.2018 को आयोजित हुई कहानी लेखन प्रतियोगिता में श्रीमती रुचि हांडा, अभियंता(एमपीएस)-प्रथम, श्रीमती नयन रतूड़ी, उप प्रबंधक(परि.-विद्युत)- द्वितीय, श्री अनूप कुमार ध्‍यानी, उप प्रबंधक(आई.टी.)- तृतीय रहे। साथ ही श्री सूरज अग्रवाल, उप प्रबंधक (सामा. एवं पर्या.), श्री आनंद कुमार अग्रवाल, प्रबंधक (कार्मिक-प्रशासन), श्री मनोहर लाल डोभाल, वरि. कार्यपालक सचिव(विधि एवं माध्‍य.) एवं श्रीमती शीला देवी, वरि. आशुलिपिक(ओ. एंड एम.एस.) ने सांत्वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। दिनांक 12.09.2018 को आयोजित हुई अनुवाद प्रतियोगिता में श्री धर्मेन्‍द्र सिंह भाटी, वरि. विधि अधिकारी(विधि एवं माध्‍य.)- प्रथम, श्री रविन्‍द्र सिंह सजवाण, प्रबंधक(परिकल्‍प-सिविल)- द्वितीय, श्री राजीव जैन, वरि. प्रबंधक (वाणिज्‍यिक)-तृतीय रहे । साथ ही डॉ. राजीव, उप मुख्‍य चिकित्‍साधिकारी(औषधालय), श्री राकेश सिंह पंवार, प्रबंधक(परिकल्‍प-विद्युत), श्री मनोहर लाल डोभाल, वरि. कार्यपालक सचिव(विधि एवं माध्‍य.), एवं श्री के.एस.पुण्‍डीर, वरि. प्रबंधक (विधि एवं माध्‍य.) ने सांत्वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। दिनांक 14.09.2018 को आयोजित हुई हिंदी हस्‍ताक्षर प्रतियोगिता में श्री शैलेन्‍द्र कुमार, प्रबंधक(परि.-विद्युत), श्री सचिन शर्मा, उप प्रबंधक(वित्‍त- लेखा)- प्रथम, श्री गिरीश चन्‍द्र जोशी, प्रबंधक(ओ.एंड एम.एस.), श्री गंभीर गुनसोला, प्रारूपकार(परिकल्‍प-सिविल)-द्वितीय, श्री एस. बम्‍सी प्रसाद, वरि. प्रबंधक(विधि एवं माध्‍य.), सुश्री डेजी ईरानी, वरि. कार्मिक अधिकारी (कार्मिक-स्‍थापना)-तृतीय रहे। साथ ही श्री दिलीप कुमार द्विवेदी, प्रबंधक (कार्मिक-वेलफेयर), श्री शशांक लाल, उप प्रबंधक(कार्मिक-स्‍थापना), श्री मकानू आर्य, परिचारिक(का.-आर एंड आईआर), श्री संतोष प्रसाद घिल्‍डियाल, उप प्रबंधक(सूचना प्रौद्योगिकी), श्री देवी लाल वर्मा, वरि. अभियंता (वाणिज्‍यिक), श्री नेकी राम, वरि. कार्य. सचिव(मा.सं.वि.) एवं श्री नटराजन कृष्‍णा, उप महाप्रबंधक(परिकल्‍प- सिविल) ने सांत्वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। दिनांक 17.09.2018 को कार्यपालकों के लिए आयोजित हुई हिंदी ई-मेल प्रतियोगिता में श्री आनंद कुमार अग्रवाल, प्रबंधक (कार्मिक-प्रशासन)- प्रथम, श्री सी.वी.आर.के. शर्मा, वरि. कार्यपालक सचिव(निदे.-कार्मिक सचिवालय)-द्वितीय, श्री गोविन्‍द सिंह रावत, उप प्रबंधक(कार्मिक-नीति)-तृतीय रहे। श्री जे.एल. भारती, जनसंपर्क अधिकारी(केंद्रीय संचार) एवं श्रीमती रश्‍मि बडोनी, उप प्रबंधक(आई.टी.) ने सांत्वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। दिनांक 17.09.2018 को ही गैर- कार्यपालको के लिए आयोजित हुई हिंदी ई-मेल प्रतियोगिता में श्रीमती शीला देवी, वरि. आशुलिपिक (ओ.एंड एम.एस.)-प्रथम, श्री खीम सिंह बिष्‍ट, वरि. सहायक(कार्मिक-नीति)- द्वितीय, श्री गंभीर गुनसोला, प्रारूपकार(परिकल्‍प-सिविल)-तृतीय रहे। श्री गबर सिंह बागड़ी, परिचारक(ओ.एंड एम.एस.) एवं श्रीमती अलका रावत, वरि. स्‍टेनो (सतर्कता) ने सांत्वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। दिनांक 18.09.2018 को आयोजित हुई हिंदी श्रुत लेखन प्रतियोगिता में श्रीमती नयन रतूड़ी, उप प्रबंधक(परि.-विद्युत)- प्रथम, श्रीमती शीला देवी, वरि. आशुलिपिक (ओ.एंड एम.एस.)-द्वितीय, श्री संतोष प्रसाद घिल्‍डियाल, उप प्रबंधक(सूचना प्रौद्योगिकी)-तृतीय रहे । साथ ही श्री विनय कुमार जैन, उप महाप्रबंधक(विधि एवं माध्‍य.), श्री शिवराज चौहान, वरि.प्रबंधक (अ.एवं प्र. नि. सचि.), श्री आनंद कुमार अग्रवाल, प्रबंधक (कार्मिक-प्रशासन) एवं श्री राकेश सिंह पंवार, प्रबंधक(परि.-विद्युत) ने सांत्वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। दिनांक 19.09.2018 को आयोजित हुई हिंदी शब्‍द ज्ञान/शब्‍द पहेली प्रतियोगिता में श्री आनंद कुमार अग्रवाल, प्रबंधक (कार्मिक-प्रशासन)- प्रथम, श्री राघवेन्‍द्र कुमार श्रीवास्‍तव, वरि. अभियंता(परि.-विद्युत)-द्वितीय, श्रीमती रश्‍मि बडोनी, उप प्रबंधक(आई.टी.)-तृतीय रहे । साथ ही श्री राकेश सिंह पंवार, प्रबंधक(परि.-विद्युत), श्री एस.डी. बसलियाल, प्रबंधक(आई.टी.), श्री संतोष प्रसाद घिल्‍डियाल, उप प्रबंधक (आई.टी.) एवं सुश्री लज्‍जू चौहान, उप प्रबंधक(वित्‍त एवं लेखा) ने सांत्वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किया। दिनांक 20.09.2018 को आयोजित हुई अंत्‍याक्षरी प्रतियोगिता के लिए कर्मचारियों के सात समूह बनाए गए थे। इन समूहों में समूह (ख) प्रथम रहा जिसमें श्री एस.डी. बसलियाल, प्रबंधक(आई.टी.), श्री जितेन्‍द्र जोशी, उप प्रबंधक(विधि एवं माध्‍य.), श्री हिमांशु जायसवाल, वरि. विधि अधिकारी(विधि एवं माध्‍य.), श्री एस.पी. थपलियाल, वरि. सहायक, कंपनी सचिवालय एवं श्री सुरेन्‍द्र सिंह नेगी, परिचारक(मा.सं.वि.) शामिल थे। समूह (ग) ने द्वितीय पुरस्‍कार प्राप्‍त किया, इस समूह में श्री आर.डी. भद्री, प्रबंधक(सर्विसेज-विद्युत), श्री रवि बुढ़लाकोटी, उप प्रबंधक(औद्यो.अभि.), श्रीमती शीला चौहान, वरि. आशुलिपिक(ओ.एंडएम.एस.), श्री रामपाल सिंह पडियार, सहायक(कार्मिक-वेलफेयर) एवं श्री गबर सिंह बागड़ी, परिचारिक(ओ.एंड एम.एस.) शामिल थे। समूह (छ) ने तृतीय पुरस्‍कार प्राप्‍त किया, इस समूह में श्री आई.जे. सिंह, प्रबंधक(का.-प्रशा.), श्री दिलीप कुमार द्विवेदी, प्रबंधक(कार्मिक-वेलफेयर), श्री जी.एस. चौहान, वरि. प्रबंधक(सतर्कता), श्रीमती अमिता रस्‍तोगी, कनि. कार्यपालक(ओ.एंड एम.एस.) एवं श्रीमती अल्‍पना शर्मा, वरि. स्‍टेनो(कार्मिक-प्रशासन) शामिल थे। समूह (च), समूह (क), समूह (ड.) तथा समूह (घ) ने सांत्‍वना पुरस्‍कार प्राप्‍त किए। समूह ''च'' में श्री बलवीर सिंह, उप प्रबंधक(विधि एवं माध्‍य.), श्री बी.आर. नौटियाल, वरि. लेखाधिकारी(वित्‍त एवं लेखा), सुश्री लज्‍जू चौहान, उप प्रबंधक(वित्‍त एवं लेखा), श्री एस.पी. घिल्‍डियाल, उप प्रबंधक(आई.टी.) एवं श्रीमती अंजना द्विवेदी, उप प्रबंधक(परि.-विद्युत) शामिल थे। समूह (क) में श्री आनंद कुमार अग्रवाल, प्रबंधक (कार्मिक-प्रशासन), श्री वी.डी. भट्ट, प्रबंधक(कार्मिक-प्रशासन), श्री राकेश सिंह पंवार, प्रबंधक(परिकल्‍प-विद्युत), श्रीमती नयन रतूड़ी, उप प्रबंधक(परिकल्‍प-विद्युत), श्री एस.पी. थपलियाल, वरि. सहायक(सतर्कता) एवं श्री जी.बी. राम, वरि. सहायक (वित्‍त एवं लेखा) शामिल थे। समूह (ड.) में श्री शशांक लाल, उप प्रबंधक (का.-स्‍था.), श्री रोबिन सिंघल, उप प्रबंधक(वित्‍त एवं लेखा), श्री राघवेन्‍द्र कुमार श्रीवास्‍तव, वरि. अभियंता(परि.-विद्युत), श्रीमती रूचि हांडा, अभियंता(एमपीएस), श्री नेकी राम, वरि. कार्यपालक सचिव(मा.सं.वि.) एवं श्री मुकेश राज त्‍यागी, कनि. कार्यपालक(आई.टी.) शामिल थे। समूह (घ) में श्री राकेश नौटियाल, वरि. विधि अधिकारी(विधि एवं माध्‍य.), श्रीमती विनीता हर्ष, प्रबंधक(परि.-विद्युत), श्री धर्मेन्‍द्र सिंह भाटी, वरि. विधि अधिकारी(विधि एवं माध्‍य.), श्री वीपीएस खरोला, वरि. स्‍टेनो(केंद्रीय संचार) एवं श्री गंभीर गुनसोला, प्रारूपकार(परिकल्‍प-सिविल) सम्‍मिलित थे। दिनांक 21.09.2018 को हिंदी प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमें कर्मचारियों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया। इस प्रतियोगिता में 50 प्रश्‍न पूछे गए एवं प्रत्‍येक सही उत्‍तर के लिए कर्मचारियों को 100 रू. का नगद पुरस्‍कार उसी समय दिया गया था । 2017-18 के दौरान विभागाध्‍यक्ष/अनुभागाध्‍यक्षों द्वारा हिंदी में सर्वाधिक कामकाज के अन्‍तर्गत पुरस्‍कार योजना के तहत श्री दीपक अग्रवाल, अपर महाप्रबंधक(मा.सं.वि./मुख्‍य अभिलेख कार्यालय)-प्रथम, डॉ. अमर नाथ त्रिपाठी, उप महाप्रबंधक(कार्मिक-नीति/केंद्रीय संचार)-द्वितीय एवं श्री ईश्‍वर दत्‍त तिग्‍गा, उप महाप्रबंधक(कार्मिक-स्‍थापना) - तृतीय रहे । हिंदी में सर्वाधिक डिक्टेशन देने वाले विभागाध्यक्षों में श्री वी.के.बडोनी, महाप्रबंधक (कारपो.नियो./एमपीएस)-प्रथम (हिंदी भाषी) तथा श्री ए.बी. गोयल, महाप्रबंधक(वित्‍त-बजट)- द्वितीय(हिंदी भाषी) पुरस्‍कार प्राप्‍त किया । मूल रूप में हिंदी में सर्वाधिक टिप्‍पण एवं आलेखन करने वाले कर्मचारियों में श्री शिव प्रसाद व्‍यास, कार्यपालक सचिव(कार्मिक-स्‍थापना) एवं श्री मुकेश वर्मा, वरि.प्रबंधक (का.-आईआर)-प्रथम, श्री जे.एल. भारती, जनसंपर्क अधिकारी (केंद्रीय संचार), श्री एस.पी. थपलियाल, वरि. सहायक(कंपनी सचिवालय) एवं श्री सी.एल. पठोई, वरि. विधि अधिकारी(कार्मिक-आरटीआई)-द्वितीय, श्री पीयूष चन्‍द्र रतूड़ी, वरि. प्रबंधक(कारपो. नियो.), श्री नेकी राम, वरि. कार्यपालक सचिव(मा.सं.वि.), श्री वी.एन. ढौंडियाल, उप प्रबंधक (कार्मिक-नीति), श्री आशुतोष कुमार आनंद, प्रबंधक(कार्मिक-नीति) एवं श्री गोविन्‍द सिंह रावत, उप प्रबंधक(कार्मिक-नीति) ने तृतीय पुरस्‍कार प्राप्‍त किया । प्रत्‍येक विभाग से विभागाध्‍यक्षों द्वारा नामित किए गए एक-एक कर्मचारी को सर्वाधिक काम-काज करने हेतु पुरस्‍कृत किया गया। इस श्रेणी में कुल 25 कर्मचारियों को पुरस्‍कृत किया गया । विभागों में हिंदी का कार्यान्‍वयन देख रहे हिंदी नोडल अधिकारियों को भी उनके सराहनीय योगदान हेतु पुरस्‍कृत किया गया । जिन विभागों का पत्राचार 95% से अधिक रहा है, इस पुरस्‍कार योजना में उन विभागों के नोडल अधिकारियों का चयन पुरस्‍कार हेतु किया गया । इस योजनांतर्गत श्री मुकेश वर्मा, उप महाप्रबंधक(वाणिज्यिक), श्री पीयूष चन्‍द्र रतूड़ी, वरि. प्रबंधक(कारपो. नियो.), श्री मुकुल गर्ग, वरि. प्रबंधक(एम.पी.एस.), श्री राम बाबू सिंह, वरि. प्रबंधक(वित्त-बजट), श्री सी.एम. भट्ट, वरि. प्रबंधक( सतर्कता), श्री बी.पी.डोभाल, उप प्रबंधक(मुख्य अभिलेख कार्यालय), श्री नेकी राम, वरि. कार्यपालक सचिव(मा.सं.वि.), श्री राकेश उनियाल, वरि. पर्या. अधिकारी(सामा.एवं पर्या.), श्री रवि बुढ़लाकोटी, उप प्रबंधक(औद्यो.अभि.), एवं श्री वीपीएस खरोला, वरि. स्‍टेनो(केंद्रीय संचार) को पुरस्‍कृत किया गया । टीएचडीसी की हिंदी गृह पत्रिका 'पहल' वर्ष 2018 में प्रकाशित उत्‍कृष्‍ट लेखों के लिए सुश्री डेजी ईरानी, वरि.कार्मिक अधिकारी(कार्मिक-स्‍थापना), श्रीमती अंजना द्विवेदी, उप प्रबंधक(परिकल्‍प-विद्युत), श्री एच.एल.भारज, कार्यपालक निदेशक एवं श्री आर.एम. दूबे, उप महाप्रबंधक(सर्विसेज), श्री दीपक राज मेहता, कार्मिक अधिकारी(मुख्‍य अभिलेख कार्यालय) व सुश्री भावना रावत, उप प्रबंधक(परिकल्‍प-सिविल) को पुरस्‍कृत किया गया । हिंदी में सर्वाधिक कार्य करने वाले सामाजिक एवं पर्यावरण विभाग को 2017-18 के लिए अंतर विभागीय चल राजभाषा ट्राफी प्रदान की गर्इ तथा सतर्कता विभाग को उत्‍तरोत्‍तर प्रगतिगामी चल राजभाषा ट्रॉफी प्रदान की गई। इस अवसर पर श्री सी.मिन्‍ज, महाप्रबंधक(कार्मिक) ने सभी विजेता कर्मचारियों को बधाई देते हुए कहा कि जिन प्रतिभागियों को पुरस्‍कार प्राप्‍त नहीं हुआ है उन्‍हें निराश होने की आवश्‍यकता नहीं है बल्‍कि आगे और अधिक प्रतिभागिता करने की आवश्‍यकता है। उन्‍होंने सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को अपने सरकारी काम-काज में राजभाषा हिंदी का शत-प्रतिशत प्रयोग करने का आग्रह भी किया। मुख्‍य अतिथि श्री जी.के. फरलिया ने अपने संबोधन में कहा कि आजादी के 70 वर्ष बीत जाने के बाद भी सरकारी संस्‍थानों में हिंदी का कार्यान्‍वयन पूरी तरह नहीं हुआ है इसमें और दृढ़ता से कार्य किया जाना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि सरकारी काम-काज में सरल हिंदी का प्रयोग किया जाना चाहिए तथा कठिन शब्‍दों से बचना चाहिए, तभी हम हिंदी को उपयुक्‍त स्‍थान पर स्‍थापित करने में सफल होंगे । अंत में वरि. प्रबंधक (हिंदी), श्री अशोक कुमार श्रीवास्‍तव ने उपस्‍थित अतिथियों, वरि. अधिकारियों व कर्मचारियों का धन्‍यवाद व आभार व्‍यक्‍त किया तथा सभी विजेता प्रतिभागियों को बधाई देते हुए पुरस्‍कार से वंचित रह गए कर्मचारियों को और अच्‍छा प्रयास करने हेतु प्रोत्‍साहित किया ।

Updated on : 04/10/2018