Home Power Links Contact Us Hindi Site

कारपोरेट कार्यालय, ऋषिकेश में एकदिवसीय हिंदी कार्यशाला का आयोजन

कारपोरेट कार्यालय, ऋषिकेश में 12 अगस्‍त, 2016 को ई-4 से ई-6 स्‍तर के कार्यपालकों के लिए एकदिवसीय हिंदी कार्यशाला का आयोजन किया गया । कार्यक्रम की अध्‍यक्षता श्री एच.एल.अरोड़ा, कार्यपालक निदेशक (ओएंडएमएस क्‍यूए एवं सेफ्टी)ने की । कार्यक्रम में अतिथि वक्‍ता  डॉ. आर.सी.शर्मा, संयुक्‍त निदेशक (राजभाषा), विद्युत मंत्रालय, नई दिल्‍ली को आमंत्रित किया गया था। इस अवसर पर हिंदी अनुभाग की ओर से श्री डी.एस.रावत,हिंदी अधिकारी ने श्री एच.एल.अरोड़ा का स्‍वागत पुष्‍प गुच्‍छ भेंट कर किया । श्री एच.एल.अरोड़ा ने डॉ. आर.सी.शर्मा का स्‍वागत पुष्‍प गुच्‍छ भेंट कर किया। श्री अरोड़ा के आशीर्वचनों के साथ कार्यशाला का शुभारंभ हुआ। उन्‍होंने अपने संक्षिप्‍त संबोधन में सभी प्रतिभागियों को अपना सरकारी कामकाज हिंदी में करने के लिए प्रोत्‍साहित किया । उन्‍होंने कहा कि हिंदी अपने आप में एक समृद्ध भाषा है तथा सरकारी कामकाज को हिंदी में करने में कोई परेशानी नहीं होनी चाहिए । हिंदी का अपना वृह्द शब्‍दकोश है तथा कम्‍प्‍यूटरों पर हिंदी में काम करने की समस्‍त सुविधाएं मौजूद होने से अब तकनीकी कार्यों में भी इसका प्रयोग सुगम हो गया है।   

 

कार्यक्रम का संचालन कर रहे श्री पंकज कुमार शर्मा,हिंदी अधिकारी ने श्री एच.एल.अरोड़ा, डॉ. आर.सी.शर्मा  एवं सभी उपस्‍थित प्रतिभागियों का हार्दिक स्‍वागत करते हुए कहा आज हमारे बीच में विद्युत मंत्रालय से डॉ. आर.सी.शर्मा, संयुक्‍त निदेशक (राजभाषा) मौजूद हैं तथा ई-4 से ई-6 स्‍तर के कार्यपालकों के लिए इस कार्यशाला को आयोजित करने का मुख्‍य उद्देश्‍य यह है कि इस स्‍तर के कार्यपालकों को यह जानकारी प्राप्‍त हो सके कि विद्युत मंत्रालय की टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड से राजभाषा हिंदी के प्रति क्‍या अपेक्षाएं हैं    

 

कार्यशाला में भोजनावकाश से पूर्व डॉ.आर.सी.शर्मा ने अपने व्‍याख्‍यान में विद्युत मंत्रालय की अपने नियंत्रणाधीन पीएसयू से राजभाषा हिंदी के प्रति अपेक्षाओं के बारे में जानकारी दी । उन्‍होंने मौलिक हिंदी के स्‍वरूप, अनुवाद में आने वाली परेशानियों, द्विभाषी दस्‍तावेज तैयार करने तथा पत्राचार में हिंदी एवं अंग्रेजी का प्रयोग करने के लिए सभी प्रतिभागियों का मार्गदर्शन किया । उन्‍होंने अनेक हास्‍यजनित उदाहरण भी प्रस्‍तुत किए । दूसरे सत्र में हिंदी अधिकारी, श्री डी.एस.रावत ने संघ की राजभाषा नीति के संबंध में प्रतिभागियों को अवगत कराया । उन्‍होंने  प्रतिभागियों को टिप्‍पण एवं आलेखन का अभ्‍यास भी कराया ।   

 

कार्यशाला में 22अधिकारियों ने प्रतिभागिता की । इस अवसर पर उन्‍हें हिंदी की साहित्‍यिक पुस्‍तकें भी वितरित की गई।

 

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited