Home Power Links Contact Us Hindi Site

नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, टिहरी की बैठक संपन्न
नराकास, टीएचडीसीआईएल, टिहरी की अर्द्धवार्षिक बैठक अतिथिगृह, भागीरथीपुरम, टिहरी में दिनांक 05.08.2016 को अध्यक्ष, नराकास, श्री पी.पी.एस. मान, कार्यपालक निदेशक, (टीसी) की अध्यक्षता में संपन्न हुई। निगम की उभरती हुई छवि एवं प्रतिष्ठा को देखते हुए राजभाषा विभाग ने नगर राजभाषा कार्यान्वयन समिति, टिहरी की बैठक के आयोजन तथा अध्यक्षता की जिम्मेदारी टीएचडीसीआईएल, टिहरी को सौंपी है। जिसे हम बखूबी निभा रहे हैं। बैठक की कार्यवाही टॉप टैरिस अतिथिगृह परिसर में स्थित सम्मेलन कक्ष में अपने निर्धारित समय पर बैठक की अध्यक्षता कर रहे टीएचडीसीआईएल, टिहरी के कार्यपालक निदेशक, श्री पी.पी.एस. मान नराकास टिहरी के सचिव उप-प्रबंधक (हिंदी), श्री इन्द्र राम नेगी तथा टीएचडीसीआईएल, के अपर महाप्रबंधक (का.एवं प्रशा.), श्री सी. मिंज, क्षेत्रीय कार्यान्वयन कार्यालय (उत्तर), राजभाषा विभाग, गाजियाबाद की उप निदेशक (कार्यान्वयन) श्रीमती प्रतिभा मलिक के स्वागत सम्मान के साथ दीप प्रज्ज्वलित कर एवं सरस्वती वंदना के साथ आरंभ की गई। इस बैठक में नराकास के अंतर्गत आने वाले केंद्रीय सरकार के विभिन्न कार्यालयों, बैंको एवं सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों/ स्वायत्त निकायों के प्रमुख/ प्रतिनिधि सदस्य के रूप में उपस्थित हुए जिनकी संख्या लगभग 16 थीं। बैठक की कार्यवाही को आगे बढ़ाते हुए सचिव नराकास ने सभी उपस्थित सुधीजनों का स्वागत करते हुए अपने संबोधन में सभी कार्यालयों से राजभाषा कार्यान्वयन को अपने-अपने कार्यालयों में प्रभावी ढंग से लागू करने हेतु अपेक्षा की। तत्पश्चात नराकास, टिहरी के सचिव श्री इन्द्र राम नेगी ने सभी कार्यालयों से प्राप्त छमाही रिपोर्ट के आंकड़ों का प्रस्तुतीकरण किया तथा रिपोर्ट में पाई गई खामियों से अवगत कराते हुए उन्हें भविष्य में दूर करने हेतु सलाह दी। मंच पर आसीन टीएचडीसीआईएल, टिहरी के प्रभारी हिंदी, अपर महाप्रबंधक (का.एवं प्रशा.) ने सभी विद्वतजनों को संबोधित करते हुए टीएचडीसीआईएल, की विभिन्न परियोजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी। साथ ही उन्होंने निगम में चलाई जा रही राजभाषा कार्यान्वयन संबंधी गतिविधियों एवं कार्यकलापों पर विस्तृत रूप से प्रकाश डाला। उन्होंने निगम के पिछले कई वर्षों से राष्ट्रीय स्तर पर इंदिरा गाँधी राजभाषा पुरस्कारों से नवाजे जाने की जानकारी भी बैठक में साझा की। उन्होंने यह भी बताया कि बैठक का आयोजन हमारे लिए गौरव की बात है तथा भविष्य में भी अपने उत्तरदायित्व को सफलतापूर्वक निर्वाह करने हेतु अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की। उप-निदेशक, श्रीमती प्रतिभा मलिक जी ने नराकास के द्वारा पूरी की जाने वाली प्रक्रियाओं एवं राजभाषा विभाग की इस संबंध में क्या अपेक्षाएँ हैं, इसके बारे में उपस्थित सदस्यों को विधिवत जानकारी दी तथा उन्हें अपने-अपने स्तर पर पूरा करने हेतु सलाह दी। बैठक की अध्यक्षता कर रहे श्री पी.पी.एस. मान (कार्यपालक निदेशक) ने अपने अध्यक्षीय संबोधन में बताया कि नराकास की अपनी सीमाएं हैं तथा सभी अधीन कार्यालयों के प्रमुखों/सदस्यों के सहयोग एवं समन्वय से नराकास की गतिविधियों को चरम सीमा तक ले जाया जा सकता है। राजभाषा विभाग, भारत सरकार ने हमें जो उत्तरदायित्व सौंपा है उसे हम अपने स्तर से तथा आप सबके सहयोग से पूरा कर पा रहे हैं। विभिन्न प्रकार की हिंदी प्रतियोगिताओं को सुचारू रूप से कार्यान्वित करने हेतु हम हमेशा तत्पर हैं। उन्होंने नराकास में सदस्य संस्थानों की उपस्थिति को लेकर चिंता व्यक्त की। अध्यक्ष महोदय द्वारा सभी सदस्यों को टीएचडीसीआईएल, टिहरी द्वारा हर प्रकार के सहयोग देने का आश्वासन दिया गया। बैठक की कार्यवाही के अंतिम सोपान में टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के उप-प्रबंधक (हिंदी) श्री नेगी ने मंच पर आसीन श्री पी.पी.एस. मान, श्रीमती प्रतिभा मलिक, श्री सी.मिंज, श्री सी.वी. दुबे के प्रति अपना अमूल्य समय देने एवं उपस्थिति हेतु आभार व्यक्त किया तथा सभी उपस्थित प्रबुद्ध जनों को टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड का आतिथ्य सत्कार स्वीकार करने हेतु बहुत-बहुत धन्यवाद दिया। सभी सम्माननीय सदस्यों ने टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड के द्वारा किए गए बैठक के सफलतापूर्वक आयोजन एवं आतिथ्य सत्कार की भूरि-भूरि प्रशंसा की।

 
             
Site Designed & Developed by IT Department, THDC India Limited